एक शरीफ सांड की सच्ची कहानी… लघुकथा (सुजाता)

एक शरीफ सांड की सच्ची कहानी… लघुकथा (सुजाता)

                  सुजाता एक शरीफ सांड की सच्ची कहानी… फोटो गूगल से साभार कहने को वह एक सांड था लेकिन मरखना नहीं था।शरीफ था। दिनभर मतवाला सा जंगल मे घूमता और साँझ ढले गाम आ जाता था। ... Read More...
अंतिम विदाई… ग़ज़लकार “आर॰ पी॰ शर्मा ‘महरिष” को

अंतिम विदाई… ग़ज़लकार “आर॰ पी॰ शर्मा ‘महरिष” को

अंतिम विदाई… ग़ज़लकार  “आर॰ पी॰ शर्मा ‘महरिष” को  आर पी शर्मा महरिष ग़ज़ल विधा में बहुत बड़ा नाम रखने वाले आर॰ पी॰ शर्मा ‘महरिष’ का कल रात 93 बरस की उम्र में मुंबई में निधन हो गया। वे ग़ज़ल के क्षेत्र म... Read More...
‘पंकज सिंह’ वे हमारी आवाजें थे…: आलेख (कौशल किशोर)

‘पंकज सिंह’ वे हमारी आवाजें थे…: आलेख (कौशल किशोर)

वे हमारी आवाजें थे… हम उन्हें पा लेंगे क्योंकि हमें उनकी जरूरत है | कवि-पत्रकार पंकज सिंह को जन संस्कृति मंच की श्रद्धांजलि…’राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य जन संस्कृति मंच, ‘कौशल किशोर’ की कलम से …… ‘पंकज... Read More...
कैसा है इंतिज़ार हुसैन का भारत: स्मरण शेष

कैसा है इंतिज़ार हुसैन का भारत: स्मरण शेष

७ दिसंबर १९२३ को डिवाई बुलंदशहर, भारत में जन्मे इंतज़ार हुसैन पाकिस्तान के अग्रणी कथाकारों में से थे | वे भारत पाकिस्तान के सम्मिलित उर्दू कथा साहित्य में मंटो, कृश्नचंदर और बेदी की पीढ़ी के बाद वाली पी... Read More...
सत्यनारायण पटेल

एक था चिका एक थी चिकी: कहानी (सत्यनारायण पटेल)

        सत्यनारायण पटेल एक था चिका एक थी चिकी आज रूपा का काम जल्दी समेटा गया। रोज़ रात ग्यारह के आसपास बिस्तर लगाती। आज खाना-बासन से क़रीब नौ बजे ही फारिग़ हो गयी।  बिस्तर पर बैठी और रिमोट से टी... Read More...
सुसाइड नोट: हाँ यह सच है, लोग गश खा कर गिर रहे हैं….(विनय सुल्तान)

सुसाइड नोट: हाँ यह सच है, लोग गश खा कर गिर रहे हैं….(विनय सुल्तान)

2-3 और 14-15 मार्च को हुई बेमौसमी बारिश और ओलावृष्टि के बाद देश-भर से किसानों की आत्महत्या की खबरें आने लगी. praxis के साथी पत्रकार विनय सुल्तान  ने तीन राज्यों की यात्रा कर खेती-किसानी के जमीनी हालात पर ... Read More...