कवि की मौत : कविता (प्रशांत विप्लवी)

आज की बाजारवादी सामाजिक व्यवस्था के कारण कवितातों में से सिमटते ग्रामीण परिवेश को शिद्दत से महसूसती प्रशांत विप्लवी की यह कविता - अनीता चौधरी कवि की ... Read More...

धोखा, माँ एवं अन्य गज़लें : दिलशाद सैदानपुरी

रंग मंच कि दुनिया में प्रवेश करने से पहले आपने 'दिलशाद सैदानपुरी' के नाम से गज़लें लिखना शुरू किया और यह लेखन का सफ़र आज भी जारी है | हमरंग के मंच से कु... Read More...

सुबह ऐसे आती है: कविता (निर्मल गुप्ता)

सच के धरातल पर आकार लेती मानवीय अभिव्यक्ति की एक कविता........ सुबह ऐसे आती है  पुजारी आते हैं नहा धोकर अपने अपने मंदिरों में जब रात घिरी होती है।... Read More...

‘तरसेम कौर’ की तीन कविताएँ

कविता लिखी नहीं जाती शायद वह बनती है, सजती है भीतर कहीं गहरे मन के अंतस में, और रिस पड़ती है शब्दों की बुनावट लेकर, कुछ ऐसे ही एहसास से भरतीं हैं 'तररस... Read More...

एक बिटिया की मनोव्यथा…: कविता (तरसेम कौर)

नए लेखकों को बेहतर मंच प्रदान करना भी हमरंग के उद्देश्यों में शामिल है | इसी पहल के साथ अब तक हमरंग एक नहीं कई नव लेखकों की रचनाएं प्रकाशित कर उन्हें ... Read More...

वो हाथ…एवं अन्य कविताएँ (अशोक तिवारी)

इंसान होने के एहसासात के साथ संवेदनाओं को छूती हुई अशोक तिवारी  कविताएँ ......... संपादक  वो हाथ... अशोक कुमार तिवारी काम करते वो हाथ जो हों कि... Read More...

‘सीमा आरिफ’ की कवितायें

प्रेम के सूक्ष्म एहसासों और जीवन कि तरह ज़िंदा यादों के फाहों से मानवीय संवेदना कि परतों को बिना आवाज़ खोलने का प्रयास करतीं ‘सीमा आरिफ‘ की ... Read More...

नए-नए जुमले और मुहावरे: कविता (डॉ मोहसिन खान)

सदियों से सत्ताधारी अपनी सत्ता के लालच में आमजन में पनपे भाई चारे को कभी जाति के नाम पर, कभी धर्म के नाम, तो कभी भाषा को हथियार बना कर आम जनता को बांट... Read More...

बस मैं हूं घूमती हुई पृथ्वी पर बिल्कुल अकेली : कवितायें (अंकिता पंवार)

कविता प्रेम है, प्रकृति है, सौन्दर्य है और सबसे ऊपर एक माध्यम है खुद के प्रतीक बिम्बों में समाज के धूसर यथार्थ को उकेरने का | जैसे खुद से बतियाते हुए ... Read More...

आत्महत्या: कविता (नित्यानंद गायेन)

(कभी-कभी अचानक कोई कविता मन-मस्तिष्क में यूं पेवस्त होती है कि बहुत देर तक थरथराता रहता है तन-मन...नित्यानद गायेन ने आत्महत्या जैसे विषय पर भावपूर्ण क... Read More...