समकालीन साहित्य में मुस्लिम महिला साहित्यकार: आलेख (अनीश कुमार)

स्त्री को अपनी परंपरा, अपना संघर्ष और अपनी भागीदारी का इतिहास खुद लिखना होगा । स्त्री जानती है भिन्न-भिन्न वर्गों, वर्णों और जातियों के बीच नए-नए समीकरणों के साथ उसे अपने लिए लड़ना होगा । पूंजीवादी पितृसत्ता ऊपर... Read More...