थम गया संगीत का एक और स्वर: “रवींद्र जैन”

कालाकार कभी अपनी चमक खोते नहीं हैं, बल्कि इनकी चमक कभी न डूबने वाले, कभी न टूटने वाले सितारों के समान है, जो दिन में, रात में अपनी आभा लिए झिलमिला रहे हैं। ‘रवींद्र जैन’ एक ऐसी पक्के साधक वाली शख्सियत का ... Read More...