निंदक नियरे: एवं अन्य कविताएँ (रूपाली सिन्हा)

लेखन और अध्यापन से जुड़ी "रुपाली सिन्हा" की कविताओं में सहज ही वर्तमान सामाजिक, मानसिक वातावरण जीवंत रूप में उठ खडा होता जान पड़ता है | आपकी रचनात्मकता महज़ विद्रूप देखने की आदी नहीं है बल्कि वह कारणों की पड़ताल कर... Read More...

अच्छा आदमी!!! एवं अन्य कविताएँ: (सुशील उपाध्याय)

वर्तमान समय में समाज से लुप्त होती मानवीय संवेदनाओं के पहलूओं को विभिन्न प्रतीकों के माध्यम से व्यक्त करती सुशील  उपाध्याय की कविताएँ - सम्पादक  अच्छा आदमी!!!  सुशील उपाध्याय हर किसी की निगाह में ऊंचा ... Read More...