प्रदीप कांत की दो ग़ज़लें……

आधुनिकता के साथ गजल की दुनियां में अपनी पहचान बना चुके 'प्रदीप कान्त' अपनी दो बेहतर गजलों के साथ हमरंग पर दस्तक दे रहे हैं ....आपका हमरंग पर स्वागत है ...| - संपादक  1 -   प्रदीप कांत जल रहा सारा शहर अब... Read More...