रसप्रिया: एकल नाटक (राजेश कुमार)

रसप्रिया, एकल नाटक: (राजेश कुमार)

रसप्रिया, एकल नाटक  राजेश कुमार (कहानी- फणीश्वरनाथ रेणु ) (दूर कहीं से रसप्रिया की दिल छू लेने वाली मद्धिम-मद्धिम सुरीली तान आ रही है ... धीरे-धीरे प्रकाश भी ... जब प्रकाश की तीव्रता महत्तम पर आती है तो एक ... Read More...