कहना सुनना: कहानी हिंदी में (कुमार अम्बुज) ( kahani in hindi )

मानवीय रिश्तों की गर्माहट को भेदती छद्म आज़ादी से होकर किसी बारीक रेशे की तरह गुजरती जिंदगी के बेहद सूक्ष्म कणों को पकड़ने, जोड़ने का प्रयास करती कवि 'कुमार अम्बुज' की यह कहानी .....| - संपादक  कहना सुनना  कु... Read More...
70%

गोपाल: कहानी (फ़िरोज अख्तर)

मानवीय चरित्र और उसकी संवेदनशीलता को एक पल के लिए झकझोर देने के साहस के साथ बेहद लघु आकार के बावजूद कितने बड़े और और अनसुलझे सवालों से मुठभेड़ के लिए विवश करती 'फ़िरोज अख्तर' की लघुकथा ..... | - संपादक  गोपाल  ... Read More...