कथा कहानी

कविता

कविता

सुखिया की डोली एवं अन्य कवितायें, अमरपाल सिंह ‘आयुष्कर

वर्तमान समय में लगातार बढ़ती तकनीकी और बाजारवाद के प्रभाव के कारण मानवीय रिश्तों के बीच आई दरार को बयाँ करती अमरपाल सिंह ... Read More...

कलबुर्गी तुम्हारे लिए : कविता (पुलकित फिलिप)

युवा कवि 'पुलकित फिलिप' की कविताओं के रचना संसार का ज्यादा भाग आक्रोश से भरा है | यह रचनाएं गवाह हैं इस बात की कि वर्तमा... Read More...

अधेड़ औरतें एवं अन्य कवितायें, प्रमोद बेड़िया

शब्दों से स्पंदित होती संवेदना के जीवंत और सवाल पूर्ण छत्र उकेरती हुईं 'प्रमोद बेड़िया' की दो कवितायें ..... संपादक  अधे... Read More...

संपादकीय

विचलन भी है जरूरी: ‘हमरंग’ संपादकीय

विचलन भी है जरूरी  हनीफ मदार कल चाय की एक गुमटी पर दो युवाओं से मुलाक़ात हुई दोनों ही किन्ही मल्टीनेशनल कम्पनियों में कार्यरत हैं | इत्तेफाक से दोनों ही कभी म... Read More...

ऑडियो

टोबा टेक सिंह: ऑडियो कहानी (आवाज़ ‘यूनुस खान’)

हर वक़्त में बेहद प्रासंगिक नज़र आती भारत विभाजन पर मानवीय त्रासदी की संवेदनशील दास्तान सी  'सआदत यूनुस खान हसन मंट... Read More...

सुनिए ‘एक जीवी एक रत्‍नी एक सपना’ कहानी अमृता प्रीतम, (आवाज़ “ममता सिंह”)

आज  ‘हमरंग’ में सुनते  हैं, अमृता प्रीतम की कहानी ‘एक जीवी, एक रत्‍नी, एक सपना’। बी बी सी की रेडिओ उद्घोषक ‘ममता सिंह’ क... Read More...

विमर्श-और-आलेख

किताबें

रंग मंच और सिनेमा

कट्टी बट्टी का फ्लॉप शो : फिल्म समीक्षा (संध्या नवोदिता)

कट्टी बट्टी का फ्लॉप शो संध्या नवोदिता कट्टी बट्टी का बहुत इंतज़ार था. इधर कंगना रानौत ने फैशन, क्वीन, तनु वेड्स मनु, फिर तनु मनु पार्ट दो से उम्मीदें इतनी बढ़ा दीं कि कंगना के नाम पर किसी भी फिल्म की एडवांस ब... Read More...

डेमोक्रेसी का खुरदुरा आख्‍यान, ‘न्यूटन’ फिल्म समीक्षा

अमित वी मासुरकर और मयंक तिवारी की तारीफ बनती है कि वे बगैर किसी लाग-लपेट के जटिल राजनीतिक कहानी रचते हैं। वे उन्‍हें दुर्गम इलाके में ले जाते हैं। इस इलाके में नक्‍सली प्रभाव और सिस्‍टम के दबाव के द्वंद्व के बी... Read More...

हावर्ड फास्ट एवं ख्वाजा अहमद अब्बास ने अपनी रचनाओं में हमेशा समाजवादी दृष्किोण को आगे बढ़ाया: रिपोर्ट (अनीश अंकुर)

हावर्डफ़ास्ट और ख्वाजा अहमद अब्बास जन्म्शाताव्दी वर्ष के अवसर पर "साहित्य- सिनेमा - प्रगतिशील सांस्कृतिक आन्दोलन" विषय पर पटना में आयोजित एक परिचर्चा की संक्षिप्त रिपोर्ट, "अनीश अंकुर" की कलम से ....| - संपादक  ... Read More...

शोध आलेख

संत कबीर और आधुनिक हिन्दी काव्य: शोध आलेख (प्रमिला देवी)

'जननायक कबीर का प्रभाव साहित्य पर आज छह सौ वर्षो के बाद भी ज्यों का त्यों देखा जा सकता है । आज जब भी धरती के किसी कोने म... Read More...

कश्मीर : एक संक्षिप्त इतिहास: ‘छटवीं और अंतिम क़िस्त’ (अशोक कुमार पाण्डेय)

कश्मीर के ऐतिहासिक दस्तावेजों और संदर्भों से शोध-दृष्टि के साथ गुज़रते हुए “अशोक कुमार पाण्डेय”  द्वारा लिखा गया ‘कश्मीर ... Read More...
Contact us