कथा कहानी

कविता

कविता

‘आल्हा’ शैली में लिखी गईं कुछ कवितायें: (शिव प्रकाश त्रिपाठी)

विभिन्न भारतीय कला संस्कृतियों में, पूर्वोत्तर भारतीय कला "आल्हा" लोक गायन में अपने छन्द विधान एवं गायन शैली की दृष्टि स... Read More...

औरतें नहीं देखती आईना: कविताएँ (रुची भल्ला)

स्त्री-विमर्श और कविता में नये मुहावरों से लैस भाषा-शिल्प...रूचि भल्ला बड़ी ज़िम्मेदारी से अपने समय और समाज का सच बयान करत... Read More...

ऑडियो

टोबा टेक सिंह: ऑडियो कहानी (आवाज़ ‘यूनुस खान’)

हर वक़्त में बेहद प्रासंगिक नज़र आती भारत विभाजन पर मानवीय त्रासदी की संवेदनशील दास्तान सी  'सआदत यूनुस खान हसन मंट... Read More...

सुनिए ‘एक जीवी एक रत्‍नी एक सपना’ कहानी अमृता प्रीतम, (आवाज़ “ममता सिंह”)

आज  ‘हमरंग’ में सुनते  हैं, अमृता प्रीतम की कहानी ‘एक जीवी, एक रत्‍नी, एक सपना’। बी बी सी की रेडिओ उद्घोषक ‘ममता सिंह’ क... Read More...

किताबें

रंग मंच और सिनेमा

गंभीर नाटकों की कमी को भरता ‘न हन्यते’: आलेख (अभिनव सव्यसांची)

12 अक्टूबर 2015 को जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय के कन्वेंशन सेंटर में 'संसप्तक' की नाट्य प्रस्तुति ‘ना हन्यते’ का समीक्षात्मक विवेचन कर रहे हैं 'अभिनव सब्यसाची' जो पेशे से पत्रकार हैं और स्वयं भी 15 सालों से थि... Read More...

रमणिका फांउडेशन और दलित लेखक संघ की काव्य-गोष्ठी: रिपोर्ट (सुमन कुमारी)

प्रत्येक माह के दूसरे शनिवार को रमणिका फांउडेशन और भारतीय दलित लेखक  संघ के संयुक्त तत्वाधान में काव्य-गोष्ठी का आयोजन किया जाता है। इस आयोजन में हर बार प्रत्येक विधा के लेखक, श्रोतागण, पत्रकार और बुध्दिजीवी शा... Read More...

जश्न-ए-रेख्ता 2016: रिपोर्ट (सीमा आरिफ)

जश्न-ए-रेख्ता जलसे का आयोजन पिछले दो सालों से दिल्ली में किया जा रहा है.इस बार इस कार्यक्रम का आयोजन 12-14 फरवरी २०१६ को इंदिरा गांधी राष्टीय कला केंद्र दिल्ली में किया गया. कार्यक्रम की एक संक्षिप्त रिपोर्ट 'स... Read More...

शोध आलेख

कश्मीर : एक संक्षिप्त इतिहास: ‘पहली क़िस्त’ (अशोक कुमार पाण्डेय)

यूं तो कोई भी इतिहास सत्ता लौलुपताओं से उत्पन्न, वर्गीय संघर्षों से रक्त-रंजित, मानवीय त्रासदियों के बड़े दस्तावेज के रूप... Read More...

सामाजिक परिवर्तन के अंतर्द्वंदऔर आधा गाँव: शोध आलेख

प्रयोगधर्मी साहित्यकार राही मासूम रजा़ ने अपनी लेखनी द्वारा बदलते सामाजिक परिवेश को बहुत ही सूक्ष्मता से शब्दबद्ध किया ह... Read More...

Subscribe For Latest Updates

Signup for our newsletter and get notified when we publish new articles for free!




Contact us