कड़वी दवा : व्यंग्य (मुकेश नेमा)

व्यंग्य व्यंग्य

मुकेश नेमा 210 2019-10-07

"मंहगे पेट्रोल डीज़ल के फ़ायदे ही फ़ायदे है ! जैसा कि आप सभी जानते ही है कि सड़कों पर दौड़ती अनगिनत गाड़ियाँ ,जिसमें आपकी कार भी है ,हवा -पानी का नाश करने की ज़िम्मेदार वजहों मे शामिल है ! सरकार चाहती है आप ज़िंदा रहे ! साफ हवा मे साँस ले पाये ! पेट्रोल मंहगा होगा ,आप अपनी कार से दूर रहेगे ! और मंहगी कार ख़रीदने का इरादा छोड देंगे !"

कड़वी दवा

पेट्रोल डीज़ल की क़ीमतें बढने ,बढ़ाने से सरकार का क्या फ़ायदा ! वो तो उस बेचारे मिडिल क्लॉस बाप सी है जो आपके कपड़ों और जूतों की शॉपिंग के बिल मे केवल इसलिये कटोत्रा करता है जिससे आपके लिये दो वक्त की दाल रोटी जुटाई जा सके ! आपके स्कूल ,कॉलेज की फ़ीस वक्त पर चुकाई जा सके ! बाप भले की सोचता है ,भले के लिये ही कूटता है ! औलादे उसे खूसट समझती है ! बाप भले के लिये करता है और आप इस बात को तभी महसूस कर पाते है जब खुद बाप हो जाते है !


मंहगे पेट्रोल डीज़ल के फ़ायदे ही फ़ायदे है ! जैसा कि आप सभी जानते ही है कि सड़कों पर दौड़ती अनगिनत गाड़ियाँ ,जिसमें आपकी कार भी है ,हवा -पानी का नाश करने की ज़िम्मेदार वजहों मे शामिल है ! सरकार चाहती है आप ज़िंदा रहे ! साफ हवा मे साँस ले पाये ! पेट्रोल मंहगा होगा ,आप अपनी कार से दूर रहेगे ! और मंहगी कार ख़रीदने का इरादा छोड देंगे ! घर मे अपने बूढे मां बाप और धूल खाती साईकल को वक्त देंगे ! ज्यादा सामाजिक हो जायेगे आप ! अडौसियो पड़ौसियों से दुआ सलाम होने लगेगी आपकी ! और तो और पड़ोस के पार्क में खूबसूरत महिलाओं के साथ योग करने का मौका है ये ! आप पैदल चलेंगे ,लोगो को पैदल चलने के फ़ायदे समझायेंगे ! इससे आपका मन और शरीर दोनो की हैल्थ ठीक होगी ! 


और फिर आप अपनी कार से जाते कहाँ है ! मियाँ की दौड़ मॉल तक ! जब मॉल मे घुसी बीबी पर्स की चमड़ी उधेडती है तो आप मन ही मन कलपते ही है ना ! अब हालात ये है कि बीबी खुद रोकेगी आपको शॉपिग से ! आपको और क्या चाहिये ! क्या आप ट्रैफिक जाम के नरक से नही बचना चाहते ! और फिर बाजार मे पार्किंग तलाशना क्या कम झंझट का काम है ! कहीं दांये बाँये गाड़ी पार्क करने का मतलब तो जानते ही है ना आप ! ऐसी ग़लतियाँ करने पर होने वाले चालान अब सैकडो से हज़ारों के हो चुके ! फिर टूटी फूटी सडको पर ड्राइविंग करना भी मौत को दावत देना सा ही है ! सरकार की नियत आपकी जान बचाने की है और कुछ नही ! 


लाँग ड्राईव पर जाने की गंदी आदतें भी तो छूटेंगीं आपकी ! अपनी गर्लफ़्रेंड को लेकर ,बेवजह दूर तक भटकने का आखरी से पहले वाला मुक़ाम मंहगे तोहफ़े और रेस्तराँ का भारी भरकम बिल ही है ! सरकार चाहती है आप अपने बुरे दिनो के लिये बचत करे ! अच्छी आदतें सीखे ,सदाचारी बने ! मॉल जाने के बजाय मंदिर जायें ! हवन करें ! गीता पढें ! आप सीधे तरीके से मानने को तैयार थे नही ! मंहगा पेट्रोल आपको सदबुद्धि देगा ! पैसा बचाना भूल चुके हम ! ऐसे कैसे काम चलेगा ! कब क़ौन सा खर्च आकर आपके सर पर सवार हो जाये क्या पता ! डॉक्टरों की ,वकीलों की जरूरत कभी भी पड सकती है आपको ! और फिर बच्चो की पढ़ाई लिखाई ,शादी ब्याह ,घूमना फिरना ! पेट्रोल से दूर रहेगे तो बचे पैसे वक्त जरूरत आपके ही काम आयेंगे ! 


और फिर जब ग्राहक पहुँचता नही दुकान पर तो दुकानदार को झक मार कर अपनी चीजे सस्ती करनी ही पड़ती है ! अभी तक तो आप जो भी टैक्स देते है सऊदी के तेल के कुओं मे समा जाता है ! आपके पैदल चलने भर से सऊदी अरब रो देगा ! इस तरह जो अरबों डॉलर बचेंगे ,उनका सरकार अचार तो डालेगी नही ! उससे फिर नई ,चौड़ी और चमकदार सड़के बनेगी ,कारे सस्ती होगी ,पार्किंग की सहूलियत मिलने लगेगी ,ट्रैफिक चालान फ़िर घटी दरो पर होने लगेंगे ! मंदी के प्राण निकल जायेगे ! आप अपनी बीबी और गर्लफ़्रेंड पर एक बार फिर पैसे लुटा सकेगे ! तो साहेबान थोडा धीरज रखिये ! सरकार को बद्दुआये देने से बाज़ आयें ! सऊदी अरब के घुटने मुडने लगे है ! उसके लेट जाने का इंतज़ार कीजिये ! बीमार हैं आप ,और बाप के हाथो ज़बरन पिलाई जा रही ये कड़वी दवा आपके भले के लिये ही है ! 


- प्रतीकात्मक चित्र google से साभार 

 

मुकेश नेमा द्वारा लिखित

मुकेश नेमा बायोग्राफी !

नाम : मुकेश नेमा
निक नाम :
ईमेल आईडी :
फॉलो करे :
ऑथर के बारे में :

अपर आयुक्त आबकारी, मध्यप्रदेश 

अपनी टिप्पणी पोस्ट करें -

एडमिन द्वारा पुस्टि करने बाद ही कमेंट को पब्लिश किया जायेगा !

पोस्ट की गई टिप्पणी -

हाल ही में प्रकाशित

नोट-

हमरंग पूर्णतः अव्यावसायिक एवं अवैतनिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक साझा प्रयास है | हमरंग पर प्रकाशित किसी भी रचना, लेख-आलेख में प्रयुक्त भाव व् विचार लेखक के खुद के विचार हैं, उन भाव या विचारों से हमरंग या हमरंग टीम का सहमत होना अनिवार्य नहीं है । हमरंग जन-सहयोग से संचालित साझा प्रयास है, अतः आप रचनात्मक सहयोग, और आर्थिक सहयोग कर हमरंग को प्राणवायु दे सकते हैं | आर्थिक सहयोग करें -
Humrang
A/c- 158505000774
IFSC: - ICIC0001585

सम्पर्क सूत्र

हमरंग डॉट कॉम - ISSN-NO. - 2455-2011
संपादक - हनीफ़ मदार । सह-संपादक - अनीता चौधरी
हाइब्रिड पब्लिक स्कूल, तैयबपुर रोड,
निकट - ढहरुआ रेलवे क्रासिंग यमुनापार,
मथुरा, उत्तर प्रदेश , इंडिया 281001
info@humrang.com
07417177177 , 07417661666
http://www.humrang.com/
Follow on
Copyright © 2014 - 2018 All rights reserved.